योगी सरकार का एक महीना पूरा: अवैध संपत्ति चला बुलडोजर तो कई ऑफिसरों पर गिरी गाज, देखिये योगी 2.0 के 10 बड़े एक्शन

0
24
Yogi Sarkar completes one month

उत्तर प्रदेश की योगी ने आज सोमवार को एक महीने का कार्यकाल पूरा कर लिया है। मुख्यमंत्री पद की शपथ योगी आदित्यनाथ ने 25 मार्च को ली थी और आज 25 अप्रैल को योगी 2.0 का एक महीना पूरा हो गया। चुनाव के समय भ्रष्टाचार को दूर करने और माफियाओं पर बुलडोजर चलने का वादा कर सत्ता में आयी योगी सरकार ने एक महीने के अंदर कई माफियाओं के अवैध निर्माण पर बुलडोजर भी चलाया। इसके साथ ही योगी सरकार ने भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारीयों के खिलाफ पर भी एक्शन लिया है। आईये देखते हैं योगी सरकार के एक महीने में लिए गए 10 कड़े एक्शन

  1. योगी सरकार ने भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति को अपनाई हुई है। योगी आदित्यनाथ ने दोबारा मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के एक सप्ताह के भीतर भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की। उन्होंने सोनभद्र जिलाधिकारी (डीएम) टीके शिबू को खनन मामले में अनियमितता के आरोप में निलंबित कर दिया।
  2. अपराध और भ्रष्टाचार के विरुद्ध जीरो टालरेंस की नीति के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पराध नियंत्रण में नाकाम एसएसपी गाजियाबाद पवन कुमार को निलंबित कर दिया। पवन कुमार को ड्यूटी में लापरवाही और अपराध को नियंत्रित करने में विफलता के चलते सस्पेंड किया गया।
  3. योगी आदित्यनाथ ने योगी 2.0 के गठन के बाद लगातार कड़ा रुख अपनाया। इसी कड़ी में उन्होंने औरैया के डीएम को निलंबित कर दिय। औरैया के डीएम सुनील कुमार वर्मा को पद का दुरुपयोग कर करीबियों को अनुचित लाभ पहुंचाने के के आरोप में हटा दिया गया। इसके साथ ही सीएम योगी ने सुनील कुमार वर्मा की संपत्तियों की जांच के भी आदेश दिए।
  4. बलिया में इंटरमीडिएट की अंग्रेजी का पेपर लीक मामले में बलिया के डीआईओएस बृजेश मिश्रा को सस्पेंड कर दिया गया। इसके साथ ही ईडी की टीम ने उनकी संपत्तियों की छानबीन शुरू कर दी।
  5. पिछले 20 दिनों में 200 करोड़ से ज्यादा की अवैध संपत्ति ध्वस्त या जब्त की गई है, जिसमें 25 माफिया डीजीपी ऑफिस और 8 शासन की तरफ से चिन्हित किए गए थे।
  6. पिछले 20 दिनों में 100 से ज्यादा अपराधियों और माफियाओं पर चला सीएम योगी का बुलडोजर।
  7.  भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए कई आईएएस अधिकारियों के तबादले तो कई अधिकारियों को वेटिंग लिस्ट में डाला गया।
  8. सीएम योगी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़ा रुख अपनाते हुए गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के अवर अभियंता शिव ओम और वसूली करने के मामले में बस्ती के असिस्टेंट कमिश्नर वाणिज्य कर आशुतोष मिश्रा को निलंबित कर दिया।
  9. भ्रष्टाचार, लापरवाही और जनता से जुड़ी समस्याओं में अनदेखी करने के मामले में असिस्टेंट कमिश्नर( प्रभारी) वाणिज्य कर सचल दल, इकाई बाराबंकी को सस्पेंड किया गया।
  10. वहीँ लगातार अजान बनाम हनुमान चालीसा के मुद्दे पर सीएम योगी ने अपना रुख साफ़ करते हुए यूपी में अब नए धार्मिक स्थानों पर माइक और लाउडस्पीकर न लगाने के निर्देश दिए।

Leave a Reply