राजस्थान में IPS अफसरों के ताबदलों पर क्यों रेंगती हुई नजर आ रही ‘सरकार’, खड़े होने लगे हैं सवाल

Ips Transfer List : राजस्थान में आईपीएस ट्रांसफर लिस्ट को लेकर हो रहा है मंथन. पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्रांसफर को लेकर दिया था बड़ा संकेत, इसलिये कोई भी नहीं कर पा रहा विरोध.

0
892
bhajan lal sharma, cm, rajasthan
bhajan lal sharma, cm, rajasthan

Ips Transfer List Rajasthan : राजस्थान में सरकार बदलने के बाद से सबकी नजर अधिकारियों के ट्रांसफर पर टिकीं हुई है. खासकर आईपीएस अधिकारियों के तबादलों पर सबने नजरें गड़ा रखी है. पिछले 25 सालों से राजस्थान में अशोक गहलोत और वसुंधरा राजे की सरकार में कुछ ही अधिकारियों को अधिक पॉवरफुल बनाया गया है. कई अधिकारी तो ‘सुपर अफसर’ की भूमिका में रहे हैं. अब जब अशोक गहलोत और वसुंधरा राजे दोनों की सरकार नहीं है तब ट्रांसफर में अफसरों की लिस्ट पर सबकी नजर है. भजनलाल सरकार ने पिछले दिनों जिस तरह से अधिकारियों के तबादले किये हैं उससे कहीं कोई विरोध नहीं है. सबकुछ टुकड़ों में हो रहा है. चुकीं, पिछले महीने जब भाजपा कार्यालय पर पीएम नरेंद्र मोदी आये थे, उन्होंने कह दिया था कि अधिकारियों के ट्रांसफर और पोस्टिंग में किसी को शामिल नहीं होना है. जिसका असर अब दिख भी रहा है. अधिकारियों के ट्रांसफर और पोस्टिंग से सरकार के कामकाज को भी जोड़कर देखा जा रहा है. राजस्थान में IPS अफसरों के ताबदलों पर क्यों रेंगती हुई नजर आ रही ‘सरकार’, और सवाल खड़े होने लगे हैं.

इन अफसरों को बदल दिया

26 जनवरी को 9 एडीजी रैंक के अधिकारियों का तबादला लिस्ट आई थी. उसके पांच दिन बाद फिर एक लिस्ट आईपीएस की आई. जिसमें आईजी रैंक के अधिकारियों के नाम शामिल है. उसमें कई अधिकारी ऐसे हैं जो अशोक गहलोत सरकार में भी बेहतर पोस्टिंग में रहे है. रविदत्त गौड़ जोधपुर में पुलिस कमिश्नर थे और उन्हें अब कोटा रेंज का आईजी बनाया गया है. राजेंद्र सिंह आईजी आरएसी थे और उन्हें जोधपुर का कमिश्नर बना दिया गया है. इन अधिकारियों की पोस्टिंग को लेकर अफसरों के बीच खूब चर्चा है.

एसपी के बदलाव में परेशानी

कई जिलों के कप्तान बदले जाएंगे. इसके लिए यहां पर तैयारी शुरू हो गई है. चूंकि, लोकसभा चुनाव से पहले अधिकारियों के ट्रांसफर की यह पहली लिस्ट है. विधान सभा चुनाव के दौरान भाजपा के कई नेताओं ने आरोप लगाया था कि कई पुलिस अफसरों ने भाजपा के कार्यकर्ताओं और नेताओं को परेशान किया था. उस लिहाज से अफसरों के तबादले किये जाये. इस मांग पर ऊपर लेवल पर चिंतन हो रहा है. इसलिए पुलिस अधीक्षकों की लिस्ट में कई नए नाम दिख सकेंगे.


Leave a Reply